जोधपुर जिले में एक गोदाम में चार-पांच दिन पुराना शव फंदे पर लटका हुआ मिला। हैरत की बात यह है कि शहरी इलाका होने के बावजूद भी लोगों को इसकी खबर नहीं हुई। चार-पांच दिन बीत जाने के बाद जब शव बदबू मारने लगा तब स्थानीय लोगों ने पुलिस को इसकी जानकारी दी। पुलिस ने शव को स्थानीय मोर्चरी में रखवा दिया अभी तक मृतक की जानकारी नहीं मिल पाई है पुलिस मामले की जांच कर रही है।

पुलिस की जानकारी के अनुसार यह मामला जोधपुर के रातानाडा पुलिस थाना इलाके का है। यहां के रेलवे स्टेडियम के पास बने हुए वर्कशॉप गोडाउन में एक व्रद्ध व्यक्ति का शव फंदे से लटका हुआ मिला है। जिस पर पुलिस ने मौका मुआयना कर सब को स्थानीय मोर्चरी में रखवा दिया है।

मृतक की नहीं मिल पाई जानकारी

रातानाडा थाना अधिकारी ने बताया कि मृतक की अभी तक पहचान नहीं हो पाई है। उन्होंने वर्कशॉप का ठेका लेने वाले नवीन से पूछताछ की जिसमें नवीन ने बताया कि वह वर्कशॉप का ठेका लेता है तथा उसने यहां सुरेश नाम के एक व्यक्ति को गार्ड की नौकरी दे रखी है। लेकिन सुरेश को कोई काम होने के कारण वह गांव गया हुआ है जिसके चलते उसने अपने किसी रिश्तेदार लक्ष्मण को यहां छोड़ रखा था।

थाना अधिकारी ने बताया कि अभी तक मामले की जांच में आशंका जताई जा रही है कि यह एक सुसाइड केस है जिसमें बुजुर्ग ने गोडाउन की छत में लगी लोहे के पाइप में फांसी का फंदा लगाकर फांसी लगा ली। शव चार-पांच दिन पुराना होने से पूरी तरह से डैमेज हो चुका है। ठेकेदार द्वारा लगाए गए गार्ड सुरेश का फोन नहीं लग पा रहा है जिसके चलते मृतक की संपूर्ण जानकारी नहीं मिल पा रही है।