राजस्थान के अलवर में ट्यूशन टीचर प्रियंका खत्री की हत्या का मामला अब पूरी तरह साफ हो गया है जिसमें कई चौंकाने वाले खुलासे सामने आए हैं। प्रियंका खत्री व स्टूडेंट के पिता के बीच पिछले 7 सालों से अफेयर चल रहा था स्टूडेंट का पिता एक बिजनेसमैन है और पत्नी को अपने नाजायज संबंधों का पता ना चले इसके लिए ट्यूशन टीचर स्टूडेंट को राखी बांधी थी। जिसकी 16 मार्च को गला घोट कर हत्या कर दी। गाड़ी से बाहर आवाज में चाहिए इसके लिए साउंड की आवाज फुल कर दी।

पत्नी व दो नौकरों के साथ मिलकर लगाया लाश को ठिकाने

आरोपी कपिल ने बताया कि हत्या के बाद उसने अपनी पत्नी को तो नौकरों के साथ मिलकर उसे एक बोरी में डाल दिया जिसके बाद उसने उसे गाड़ी में डालकर नीमराणा ले जा कर फेंक दिया। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से गाड़ी को ट्रैक कर आरोपी को गिरफ्तार किया।

40 लाख रुपए का करवा चुकी थी खर्चा

आरोपी ने बताया कि ट्यूशन टीचर व उसके बीच पिछले 7 सालों से संबंध चल रहे हैं। ट्यूशन टीचर प्रियंका को सुंदर दिखने का बहुत शौक था जिसके चलते हुए वह बहुत प्रकार की दवाइयां लेती थी जिसका खर्च कारोबारी ही देता था तथा प्रियंका के 7 साल में संपूर्ण खर्चे उसी ने ही वहन किए हैं। आरोपी कपिल ने बताया कि पिछले 7 साल में उसने प्रियंका पर लगभग 40 लाखो रुपए खर्च कर दिए है ।

इतना ही नहीं घरवालों पर प्रेशर बनाए रखने के लिए प्रियंका ने एक बार खुदकुशी की कोशिश भी की थी.16 मार्च को प्लास्टिक के बोरे में प्रियंका की लाश अलवर के ततारपुर इलाके में मिली थी. फिर पुलिस ने इलाके की सीसीटीवी फुटेज खंगाले. इसके आगार पर पुलिस ने गाड़ी का नंबर ट्रेस किया. फिर दिल्ली और उत्तर प्रदेश के कई स्थानों पर दबिश दी गई. फिर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया.