• Raj News
  • Mukhyamantri Chiranjeevi Yojna
  • मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना

राजस्थान सरकार राजस्थान के नागरिकों को चिकित्सा बीमा का लाभ देने के लिए मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना(Mukhyamantri Chiranjeevi Yojna) का शुभारंभ अप्रैल में कर चुकी हैं। मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना(Mukhyamantri Chiranjeevi Yojna) के माध्यम से राजस्थान के हर परिवार को ₹500000 का बीमा दिया जाएगा।

प्रदेश के मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना से अब तक 6 लाख से भी ज्यादा लोगों को फायदा हुआ है. इस योजना के तहत लोगों को नि:शुल्क इलाज का लाभ मिलता है.

How to register online in Mukhya Mantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana

मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना क्या है? कैसे मिलेगा किसानों को इसका लाभ…..

मुख्यमंत्री ने दी जानकारी

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोशल मीडिया के जरिए जानकारी देते हुए कहा कि इस योजना से राज्य सरकार का यह प्रयास है कि उनके प्रदेश के सभी परिवारों का इलाज कैशलैस हो. उन्होंने यह भी बताया कि वर्तमान में प्रदेश के लगभग 1 करोड़ 33 लाख से भी ज्यादा परिवारों ने इस योजना के लिए पंजीकरण कर लिया है.

मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना(Mukhyamantri Chiranjeevi Yojna) का लाभ लेने के लिए नागरिकों को इसके लिए रजिस्ट्रेशन करवाना अनिवार्य होगा। नागरिकों को रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए एसएसओ आईडी तथा ईमित्र के माध्यम से जनाधार से लिंक प्लेटफार्म से रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं।

प्रीमियम की राशि राज्य सरकार द्वारा वहन की जाएगी

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के सचिव सिद्धार्थ महाजन ने बताया कि बीमा की राशि 5 लाख एक परिवार को 1 वर्ष में देय होगी। जिसके तहत हर वर्ष परिवार को 5 लाख तक की बीमारी का भुगतान राज्य सरकार की मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना(Mukhyamantri Chiranjeevi Yojna) के तहत किया जाएगा। वर्तमान में राजस्थान में आयुष्मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत 1576 बीमारियों को कवर किया जाता है।इस योजना के लिए 1662 रुपए की प्रीमियम राशि का भुगतान राज्य सरकार द्वारा किया जाएगा

मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरुणा राजोरिया ने बताया कि इस योजना के माध्यम से राजस्थान सरकार का लक्ष्य गरीब जनता को फायदा पहुंचाने का है उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना(Mukhyamantri Chiranjeevi Yojna) का लाभ राज्य के हर नागरिक को दिया जाएगा इसमें किसी भी व्यक्ति को योजना से वंचित नहीं रखा जाएगा।